नगर निगम का कर्मचारी बनकर मकान दिलाने के नाम पर लाखो की ठगी, युवक गिरफ्तार

Featured Latest छत्तीसगढ़ जुर्म
Spread the love

रायपुर| तेलीबांधा पुलिस ने युवक को गिरफ्तार किया है, यह शातिर लोगों से वादा किया करता था, कि वह सरकारी मकान अलॉट कराने में उनकी मदद करेगा। बदले में इसने एक दर्जन लोगों से 5 लाख 11 हजार 500 वसूल लिए। लोगों को ना मकान मिला ना उनके रुपए वापस मिले। इसके बाद मामला पुलिस के पास पहुंचा। तेलीबांधा थाने की पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।

 

यह भी पढ़े :

छत्तीसगढ़ डेंटल कॉलेज की छात्रा ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

 

 

गिरफ्तार हुए युवक का नाम श्यामू चेलक है। लोगों को यह खुद को नगर निगम का कर्मचारी बताता था। फेसबुक पर इसने अपनी प्रोफाइल पर स्मार्ट सिटी लिमिटेड में काम करने का दावा किया है। यह खुद को छत्तीसगढ़ सतनामी समाज का नेता भी बताता है। सोशल मीडिया पर इसकी कई कांग्रेसी नेताओं के साथ तस्वीरें भी हैं, इनके प्रभाव में लेकर इसने लोगों को ठग लिया। मामले की शिकायत करने वाले सोहेल अंसारी ने बताया कि श्यामू चेलक ने खुद को नगर निगम का कर्मचारी बताया। यह कहा कि निगम BSUP वाले मकान देने जा रहा है। इसने दावा किया कि रुपए देने के बाद मकान दिला देगा। सोहेल की परिचित मंजू बंजारे ने श्यामू से उसकी मुलाकात करवाई। श्यामू चालक ने दावा किया कि बुकिंग के लिए 60 हजार देने होंगे इसके बाद बाकी की रकम फाइनेंस हो जाएगी। भरोसा करके सोहेल जैसे कुछ अन्य लोगों ने मिलकर 5 लाख 11 हजार 500 रुपए दे दिए। बाद में लोगों को पता चला कि श्यामू चेलक के दावे फर्जी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *