पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने मंत्री रविन्द्र चौबे से कहा, दम है तो 15 दिन का करें मानसून सत्र

Featured Latest आसपास छत्तीसगढ़ प्रदेश
Spread the love

०० मंत्री रविंद्र चौबे ने छत्तीसगढ़ विधानसभा के मानसून सत्र को लेकर कहा था कि बीजेपी के पास कोई नहीं है मुद्दा

रायपुर| छत्तीसगढ़ के आगामी मानसून सत्र को लेकर पूर्व मंत्री और विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कृषि मंत्री रविंद्र चौबे को घेरा है। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि रविंद्र चौबे संसदीय कार्य को ठीक तरह से संपादित नहीं करते । पिछले कुछ वक्त में हुई 13 विधानसभा के 13 सत्र में से एक भी सत्र पूरा नहीं हुआ, बीच में ही सत्र को समाप्त कर दिया जाता है।

 

 

यह भी पढ़े :

चरामेति शिक्षा सेवा महोत्सव के द्वितीय चरण के अंतर्गत बांटी कॉपियां

 

 

बृजमोहन ने आगे कहा, हम जब सवाल पूछना शुरु करते हैं तो कांग्रेसी जवाब नहीं दे पाते, इसी वजह से सत्र को बीच में बंद कर दिया जाता है । यदि कृषि मंत्री रविंद्र चौबे में दम है तो मानसून सत्र को कम से कम 15 दिनों का सत्र करके दिखाएं। विपक्ष सत्ता से सवाल करेगा और सभी सवालों के जवाब दें। दरअसल मंत्री चौबे ने भाजपा पर सदन की कार्यवाही बीच में छोड़ने का आरोप लगाया था। जिसके बाद बीजेपी का यह बयान सामने आया है।

 

यह भी पढ़े :

छत्तीसगढ़ में भाजपा के है 10 सांसद मगर रद्द ट्रेनों के मसले पर कोई नहीं बोलता : मंत्री रविन्द्र चौबे

 

 

छत्तीसगढ़ विधानसभा का 14वां सत्र 20 जुलाई से शुरू होकर 27 जुलाई तक चलेगा। इस सत्र में कुल 6 बैठकें होंगी । छत्तीसगढ़ विधानसभा सचिवालय की तरफ से विधानसभा सत्र को लेकर अधिसूचना जारी कर दी गई है। एक दिन पहले मंत्री रविंद्र चौबे ने छत्तीसगढ़ विधानसभा के मानसून सत्र को लेकर कहा कि बीजेपी के पास कोई मुद्दा नहीं है। जितने दिन का सत्र होता है, विपक्ष उतने दिन तक बैठ कर चर्चा नहीं कर पाता। सदन से भाग जाते हैं। सरकार उनके हर प्रश्नों का जवाब देने तैयार है। बीजेपी पहले दिन नारेबाजी करती है। दूसरे दिन बापू के पास जाकर बापू को तंग करती है और तीसरे दिन सदन छोड़ कर भाग जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *