हमारी सांस्कृतिक परंपरा शांति की समर्थक, संविधान की मूल भावना को पहुंचाई गई है चोट : केंद्रीय राज्यमंत्री प्रहलाद पटेल

Featured Latest खास खबर छत्तीसगढ़ बड़ी खबर राजनीती
Spread the love

०० उदयपुर और महाराष्ट्र जैसे देश के गर्म सियासी मुद्दों पर केंद्रीय उद्योग राज्यमंत्री प्रहलाद पटेल ने दिया बयान

रायपुर| केंद्रीय उद्योग राज्यमंत्री प्रहलाद पटेल शुक्रवार को रायपुर पहुंचे, यहां उन्हें एक निजी युनिवर्सिटी के कार्यक्रम में बुलाया गया था। एयरपोर्ट उन्होंने उदयपुर और महाराष्ट्र जैसे देश के गर्म सियासी मुद्दों पर बयान दिया। उदयपुर घटना को लेकर केंद्रीय राज्यमंत्री पटेल ने कहा- देश में शांति रहे सरकार और समाज दोनों यही चाहते हैं। हमारी सांस्कृतिक परंपरा भी शांति की समर्थक है ।

 

यह भी पढ़े :

राज्यपाल सुश्री उइके ने रथयात्रा के अवसर पर जगन्नाथ मंदिर में की पूजा-अर्चना

 

 

केन्द्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल ने कहा कि मैं इतना जरूर कहूंगा कि कानून के दायर में रहकर विचार किया जाना चाहिए। ये संविधान मूल भावना के खिलाफ है, उसकी जो मर्यादा है, उसे बड़ी चोट पहुंचाई गई है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा इस मामले में नुपुर शर्मा को लगाई गई फटकार के मसले पर पटेल बोले- जब मामला सुप्रीम कोर्ट में हैं, इस पर कोई टिप्पणी नहीं करनी चाहिए। महाराष्ट्र के मामले में प्रहलाद पटेल ने कहा कि वहां की जनता ने कांग्रेसियों को जनादेश नहीं दिया था, कांग्रेस खुद अपने बोझ के कारण दब गई है। महाराष्ट्र की परिस्थिति को लेकर कोई और नहीं बल्कि कांग्रेस ही जिम्मेदार है। दरअसल महाराष्ट्र में कांग्रेस और शिवसेना के गठबंधन की सरकार गिर चुकी है। अब वहां शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे ने भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाकर सीएम  पद की शपथ ली है।

 

यह भी पढ़े :

मुख्यमंत्री बघेल ने श्री नारायणा हॉस्पिटल में मेगा निःशुल्क आर्थोपेडिक एवं स्पाइन सर्जरी का किया शुभारंभ

 

इस्लाम पर की गई टिप्पणी के चलते विवाद में आईं नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट ने सख्त रुख अपनाया है। अदालत में नूपुर शर्मा की ओर से दाखिल अर्जी में कहा गया था कि उनकी जान को खतरा है, ऐसे में वह देश के अलग-अलग हिस्सों में केसों की सुनवाई के लिए नहीं जा सकतीं। शीर्ष अदालत ने उन्हें कोई राहत तो नहीं दी, उलटे सख्त टिप्पणियां की। अदालत ने नूपुर शर्मा को फटकार लगाते हुए कहा कि उनके ही एक बयान के चलते माहौल खराब हो गया। यही नहीं अदालत ने कहा कि नूपुर शर्मा ने माफी मांगने में देरी कर दी और उनके चलते ही दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं हुई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *