मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना से साजिद एवं शांता बाई  को मिला जीवनदान

Featured Latest आसपास छत्तीसगढ़ राष्ट्रीय
Spread the love

अति गंभीर बीमारी से ग्रसित बालोद जिले के 67 लोगों को इलाज के लिए मिली एक करोड़ रूपए से अधिक की मदद

रायपुर| छत्तीसगढ़ शासन की मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना अति गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों के लिए संजीवनी बन नया जीवनदान प्रदान कर रही है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा आर्थिक रूप से अभाव ग्रस्त ऐसे लोग जो अपनी गंभीर बीमारियों का इलाज करा पाने में असमर्थ हैं। उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान कर उनका समुचित इलाज सुनिश्चित कराने में यह योजना मददगार साबित हो रही है। उल्लेखनीय है कि इस योजना के अंतर्गत अति गंभीर बीमारियों से ग्रसित मरीजों को समुचित इलाज हेतु राज्य शासन के द्वारा 20 लाख रूपए तक की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इस योजना के अंतर्गत बालोद जिले के 67 लोगों को जो अति गंभीर बीमारियों से ग्रसित रहे हैं उन्हें इलाज के लिए अब तक 01 करोड़ 17 लाख 56 हजार रूपए की सहायता राशि दी गई है।

 

यह भी पढ़े :

नवाचार : गौठानों में वस्त्र बुनाई करेंगी समूह की महिलाएं

 

मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना के तहत बीमारियों के इलाज के लिए मिली आर्थिक मदद से बालोद जिले के साजिद अहमद खान एवं शांता बाई के सेहत में तेजी से सुधार होने से उनमें नवजीवन की आस जगी है। 52 वर्षीय साजिद अहमद ने बताया कि अप्रैल 2020 में ब्रेन हेमरेज के कारण उसके शरीर का एक हिस्सा पैरालाइज हो गया था। उन्होंने बताया कि उनके कुछ परिचित लोगों के द्वारा उन्हें राज्य शासन की इस योजना की जानकारी दी गई। इसके पश्चात् उनके परिजनों के द्वारा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से सम्पर्क करने पर जरूरी औपचारिकताओं को पूरा कर उन्हें मेडीसाइन अस्पताल रायपुर एवं रामकृष्ण अस्पताल रायपुर में भर्ती कराकर उनका बेहतर इलाज कराया गया। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा 05 लाख रूपए राशि स्वीकृत की गई, जिसके फलस्वरूप आज वह स्वस्थ है और वह बातचीत कर पाने के लायक हो गए हैं।

 

यह भी पढ़े :

‘सियान जतन क्लीनिक’ में अब तक 74 हजार 738 बुजुर्गों का उपचार

 

मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना से लाभान्वित गुण्डरदेही विकासखण्ड के ग्राम बरबसपुर की 79 वर्षीय बुजुर्ग महिला श्रीमती शंाता बाई ने भी इस योजना की सराहना की है। श्रीमती शांता बाई ने बताया कि मई 2020 में पेट में कैंसर से पीड़ित होने से इलाज नहीं करा पाने के कारण वे नारकीय जीवन जीने के लिए विवश हो गई थी। साथ ही घर की खराब आर्थिक स्थिति के कारण अपने बीमारी का इलाज करा पाने की आशा भी उन्होंने छोड़ दी थी। लेकिन उसके कुछ परिचितों एवं शुभचिंतकों के माध्यम से उन्हें इस योजना के संबंध में जानकारी मिली। इसके पश्चात् वे अपने परिवार वालों के साथ अपने गंभीर बीमारी की इलाज के मदद के लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से सम्पर्क किया। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने तत्परता से कार्यवाही करते हुए उसके स्वास्थ्य परीक्षण उपरांत उसे राजधानी रायपुर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया और इसके साथ ही उनके इलाज में लगने वाली कुल 03 लाख 67 हजार आठ सौ रूपए की राशि का भुगतान भी किया। वर्तमान में उनका इलाज चल रहा है तथा पहले से स्थिति काफी अच्छी है। इन दोनो मरीजों ने कहा कि राज्य शासन की यह योजना उनके लिए किसी संजीवनी के समान है। यह योजना आर्थिक रूप से कमजोर एवं गंभीर बीमारियों से ग्रसित अनेक लोगों के लिए वरदान है। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल एवं छत्तीसगढ़ सरकार को हृदय से धन्यवाद ज्ञापित किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *