प्रदेश मुख्यालयों के बाद ईडी के खिलाफ कांग्रेस ने जिलों में किया आक्रोश प्रदर्शन

Featured Latest खरा-खोटी छत्तीसगढ़
Spread the love

छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में हुआ प्रदर्शन

8 सालों में देश भर में किसी भाजपा नेता के यहां ईडी क्यों नहीं गयी : मोहन मरकाम

रायपुर| । भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी एवं पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ मोदी भाजपा सरकार के द्वारा की जा रही दुर्भावनापूर्ण कार्यवाही के विरोध में प्रदेश मुख्यालयों में विरोध प्रदर्शन के बाद कांग्रेस ने देश भर के सभी जिला मुख्यालयों में ईडी के खिलाफ आक्रोश प्रदर्शन किया। छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में ईडी के खिलाफ जंगी प्रदर्शन किया गया। बलौदाबाजार, गरियाबंद, महासमुंद, धमतरी, बालोद, दुर्ग शहर, दुर्ग ग्रामीण, भिलाई शहर, बेमेतरा, राजनांदगांव शहर, राजनांदगांव ग्रामीण, कवर्धा, जगदलपुर शहर बस्तर ग्रामीण, सुकमा, नारायणपुर, कोण्डागांव, बीजापुर, कांकेर, दंतेवाड़ा, बिलासपुर शहर, बिलासपुर ग्रामीण, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही, मुंगेली, कोरबा शहर, कोरबा ग्रामीण, जांजगीर-चांपा, रायगढ़ शहर, रायगढ़ ग्रामीण, जशपुर, सरगुजा, सूरजपुर, बलरामपुर, कोरिया सहित कांग्रेस के सभी जिलों में कांग्रेसजनों ने विरोध प्रदर्शन किया। राजधानी रायपुर को प्रदेश व्यापी सफल कार्यक्रम के कारण जिला स्तरीय कार्यक्रम से अलग रखा गया था।


प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष एवं सांसद राहुल गांधी, मोदी सरकार जनविरोधी, किसान विरोधी नीतियों, देश में बढ़ती बेरोजगारी, महंगाई, गिरती अर्थव्यवस्था के खिलाफ मुखर होकर जनता की लड़ाई लड़ रहे है इससे घबराकर मोदी भाजपा की सरकार विपक्ष की आवाज को दबाने कुचलने सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग कर विपक्ष को डराने, धमकाने की कोशिश कर रही है। मोदी सरकार के तानाशाही रवैया से कांग्रेस डरने वाली नहीं है। मोदी सरकार के दमनकारी नीतियों के खिलाफ कांग्रेस के एक-एक कार्यकर्ता सड़क से लेकर सदन तक लड़ाई लड़ेगा। आने वाले दिनों में जिलों में हुए इस प्रदर्शन को कांग्रेस ब्लॉकों और वार्डों तक लेकर जायेगी।


प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि देशभर में आईटी और ईडी भारतीय जनता पार्टी के मोर्चा संगठन की भांति काम कर रही है। इनकी कार्यवाही और कार्यप्रणाली दोनों लगातार सवालों के घेरे में रहती है। भाजपा बतायें कि पिछले 8 साल में कितने भाजपा और भाजपा के सहयोगी दलों के लोगों के यहां छापे की कार्यवाही की गयी? देश में सारी अनियमितता विरोधी दल के लोग ही कर रहे है, भाजपा और उसके सहयोगी दल के नेता दूध के धुले हुए हैं? ईडी, आईटी और भाजपा का जो नापाक गठबंधन देशभर में दिख रहा, लोग जानना चाहते है ये रिश्ता क्या कहलाता है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *