संभागायुक्त कावरे ने डोंगरगांव तहसील के कार्यालय में दी दबिश, कानूनगो को की रोकी गई वेतनवृद्धि

Featured Latest आसपास छत्तीसगढ़ प्रदेश
Spread the love

पटवारी कार्यालय में किया ऋण पुस्तिका का वितरण व लंबित आवेदनों के कार्रवाई में तेजी लाने के दिए निर्देश
रायपुर| संभागायुक्त दुर्ग महादेव कावरे द्वारा आज राजनांदगांव जिले के डोंगरगांव तहसील अन्तर्गत अनुविभागीय अधिकारी कार्यालय डोंगरगांव, तहसील कार्यालय डोंगरगांव एवं पटवारी कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। जिस दौरान कार्यालय में सभी शाखाओं में संबंधित कर्मचारी के टेबल में नेम प्लेट नहीं पाए जाने पर श्री कावरे ने श्री नायक अनुविभागीय अधिकारी एवं श्री ध्रुव तहसीलदार को 3 दिवस के भीतर नेम प्लेट रखे जाने के निर्देश दिए।

 

यह भी पढ़े :

अत्याधिक बारिश से हुए जल प्रभावित क्षेत्रों का कलेक्टर व एसपी ने किया निरीक्षण, वाटर पंप लगवाकर किया गया ड्रेनेज

 

निरीक्षण के दौरान सर्वप्रथम डोंगरगांव तहसील कार्यालय में निरीक्षण के दौरान श्री कावरे ने वहां उपस्थित ग्रामीणों एवं पक्षकारों से चर्चा की जिस दौरान वहा उपस्थित ग्राम बगदई के ग्रामीण श्री राजेन्दर सिंह ने बताया गया कि उनके द्वारा फर्द बंटवारा का आवेदन प्रस्तुत किया गया है, जिस पर श्री कावरे ने वहां उपस्थित तहसीलदार श्री कोमल धुव को तत्काल कार्रवाई किए जाने हेतु निर्देशित किया। कार्यालय में शाखाओं के निरीक्षण के दौरान श्री कावरे ने डब्ल्यू.बी.एन शाखा मे संधारित होने वाली पंजीयो ंबी-4, बी-7, पी-2, वर्गीकरण पंजी का अवलोकन किया, जिसमें विविध राजस्व की वसूली होना शेष पाया गया एवं पंजियों का अद्यतन नहीं होना पाया गया। जिस पर श्री कावरे द्वारा नाराजगी व्यक्त की गई एवं संबंधित कर्मचारी श्रीमती बिलकीस खान को 15 दिवस के भीतर इसे पूर्ण करने के निर्देशित किया गया। इसी प्रकार कानूनगों शाखा में संधारित किए जा रहे पंजियों का निरीक्षण किया। जिसमें पटेली पंजी, सर्किल नोटबुक के लंबे समय से अद्यतन नही पाए जाने साथ ही अभिलेखों के अव्यवस्थित रख-रखाव पर संभागायुक्त द्वारा संबंधित कर्मचारी श्री शरद जोशी के वेतन वृद्धि रोके जाने के निर्देश दिए।

 

 

यह भी पढ़े :

हर घर में लहराएगा तिरंगा,कलेक्टर ने राष्ट्र ध्वज लगाने की अपील

 

 

लोक सेवा गारंटी अंतर्गत लंबित आवेदनो का त्वरित करें निराकरण :- कावरे ने तहसील डोंगरगांव में लोक सेवा गारंटी अंतर्गत 2798 लंबित आवेदन होने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की एवं वहां उपस्थित संबंधित अधिकारी श्री कोमल धु्रुव तहसीलदार डोंगरगांव को एवं श्री अशोक सिंह राजपूत नायब तहसीलदार को फटकार लगाते हुए इस पर तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार न्यायालय तहसीलदार में 260 प्रकरण एवं न्यायालय नायब तहसीलदार तुमड़ीबोड़ में 127 प्रकरण लबित पाया गया। जिस पर संभागायुक्त ने पुराने प्रकरणों को प्राथमिकता के आधार पर त्वरित निराकरण हेतु निर्देशित किया एवं प्रकरणों में सुनवाई पूर्ण हो चुके आवेदनों में आदेश पत्र जारी करने के निर्देश दिए।
लोक सेवा केन्द्र डोंगरगांव का किया निरीक्षण :- संभागायुक्त ने लोक सेवा केन्द्र डोंगरगांव में दर्ज आवेदनों के अवलोकन के दौरान ड्रायविंग लायसेंस के लंबित आवेदन पर तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए। साथ ही उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी आवेदनों का निराकरण किसी भी परिस्थिति में समय सीमा के भीतर ही कर लिया जाये।

 

 

यह भी पढ़े :

प्रदेश में 10 हजार नए शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया शीघ्र होगी प्रारंभ: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

 

 

पटवारी कार्यालय में किया ऋण पुस्तिका का वितरण :- संभागायुक्त श्री कावरे ने डोंगरगांव तहसील के पटवारी हल्का नं 23 एवं 24 का भी निरीक्षण किया। जिस दौरान वहां उपस्थित ग्राम सेवताटोला के ग्रामीण श्री कमल द्वारा अवगत कराया गया कि उनके द्वारा ऋण पुस्तिका में रिकार्ड अद्यतीकरण का आवेदन प्रस्तुत किया गया है। जिस पर तत्काल अद्यतीकरण उपरांत संभागायुक्त द्वारा आवेदक को ऋण पुस्तिका प्रदान की गई।
अधिवक्ताओं से की चर्चा :- संभागायुक्त द्वारा डोंगरगांव तहसील के अधिवक्ताओं भेंट कर न्यायालयीन प्रक्रियाओं के निराकरण के संबंध में चर्चा की। इस पर उपस्थित अधिवक्ता श्री सतीश कुमार पाण्डेय, श्री प्रवीण चन्द्रवंशी, श्री ओम प्रकाश पाठक एवं श्री महेन्द्र सिंह ठाकुर व श्री शफीर अहमद खान ने न्यायालय के कार्यप्रणाली पर संतुष्टता व्यक्त की एवं परिसर में बैठक व्यवस्था एवं पेयजल की मांग रखी। जिस पर श्री कावरे ने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी एवं मुख्य नगर पालिका अधिकारी को इस संबंध में तत्काल कार्रवाई करने हेतु निर्देशित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *