कलेक्टर अग्रवाल की उपस्थिति में जशपुर के सरडीह गौठान में हरेली त्यौहार

Featured Latest आसपास छत्तीसगढ़ राष्ट्रीय
Spread the love

हरेली त्यौहार छत्तीसगढ़ की गौरवशाली संस्कृति की पहचान : कलेक्टर अग्रवाल
पारंपरिक एवं गरिमामय ढंग से मनाया गया
कलेक्टर ने जिलेवासियों को हरेली त्यौहार की दी हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं

कलेक्टर सहित अन्य उपस्थित अतिथियो द्वारा लोक पारंपरिक व्यंजनों का उठाया गया लुत्फ
गौठान में कार्यरत समूह की महिलाओं को मुर्गी-बकरी यूनिट का किया गया वितरण
जशपुरनगर| कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल की उपस्थिति में जशपुर जनपद के पैंकू पंचायत के सरडीह गौठान में हरेली त्यौहार बड़े ही पारंपरिक एवं गरिमामय ढंग से मनाया गया। इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री जितेन्द्र यादव, जनपद पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कल्पना लकड़ा, एसडीएम जशपुर श्री बालेश्वर राम, जनपद सीईओ श्री प्रेम सिंह मरकाम सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी जनप्रतिनिधि एवं ग्रामीणजन उपस्थित थे।

 

यह भी पढ़े :

मुंगेली जिले में उत्साह व धूमधाम के साथ मनाया गया छत्तीसगढ़ का प्रमुख पर्व हरेली

 

कलेक्टर द्वारा छत्तीसगढ़ महतारी की पूजा अर्चना एवं दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यक्रम का शुभांरभ किया गया साथ ही गौमाता की आरती कर उसे हरा घास खिलाया गया।  कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कलेक्टर ने जिलेवासियों को हरेली त्यौहार की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि हरेली त्यौहार छत्तीसगढ़ की गौरवशाली संस्कृति की पहचान है। यह त्यौहार परंपरागत रूप से कृषि, हरियाली और पर्यावरण को समर्पित है। श्री अग्रवाल ने कहा कि ग्रामीणों द्वारा हरेली का पर्व बड़े उत्साह और उमंग से मनाया जाता है। उन्होंने सभी ग्रामीणों को प्रदेश सरकार की विभिन्न महत्वकांक्षी योजनाओं की जानकारी देकर योजनाओं का लाभ लेने के लिए प्रोत्साहित किया। साथ ही सभी को आयुष्मान कार्ड बनवाने एवं कोविड टीकाकरण लगवाने हेतु समझाईश दी।

 

 

यह भी पढ़े :

बड़े ही धूमधाम से जिले में मनाया गया छत्तीसगढ़ का पहला त्यौहार

 

सीईओ श्री यादव ने कहा कि हरेली पर्व छत्तीसगढ़ के लोगों के प्रकृति प्रेम और समर्पण को दर्शाता है। इस दिन ग्रामीणों द्वाराकृषि उपकरणों की साफ-सफाई और पूजा कर चारों ओर सुख समृद्धि व हरियाली की कामना की जाती है। इस अवसर पर गौठान में विविध रोचक प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। जिसके अंतर्गत गेड़ी दौड़, रस्सा-कस्सी, कुर्सी दौड़ सहित अन्य प्रतियोगिता शामिल है। ग्रामीण बड़े उत्साह एवं उमंग के साथ इन प्रतियोगिता में शामिल हुए। साथ ही समूह की महिलाओं द्वारा पारंपरिक छत्तीसगढ़ी व्यंजन की प्रदर्शनी लगाई गई थी। कलेक्टर सहित अन्य उपस्थित अतिथियो द्वारा लोक पारंपरिक व्यंजनों का लुत्फ उठाया गया। इस दौरान कलेक्टर एवं अन्य अतिथियों द्वारा गौठान में संचालित खाद उत्पादन सहित अन्य आजीविका गतिविधियों का मुआयना कर नियमित रूप से गोबर खरीदी करने एवं खाद उत्पादन में प्रगति लाने के लिए कहा। साथ ही गौठान की सूरज स्व सहायता समूह की महिलाओं को बकरी यूनिट एवं गुलाब स्वसहायता समूह की महिलाओं को मुर्गी यूनिट प्रदान किया गया। कलेक्टर ने सभी महिलाओं का अच्छे से कार्य कर लाभ अर्जित करने के लिए प्रेरित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *