छत्तीसगढ़ में फिर चला मोदी मैजिक, भाजपा के खाते में आईं 11 में से 10 सीटें, बृजमोहन ने दर्ज की सबसे बड़ी जीत

Featured Latest खास खबर छत्तीसगढ़ बड़ी खबर राजनीती
Spread the love

रायपुर। छत्तीसगढ़ में मोदी लहर बरकरार है। विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली बड़ी जीत के बाद अब लोकसभा में भी प्रदर्शन बरकरार है। भाजपा ने प्रदेश की 11 में से 10 सीटें जीतकर जीत का परचम लहराया है। मोदी की लहर के असर से भाजपा ने 10 सीटें जीतकर 2019 के परिणाम को को भी पीछे छोड़ दिया है और प्रदेश के गांव-शहर में जश्न मनाया जा रहा है।

भाजपा के कार्यकर्ता मंडल स्तर से लेकर जिला और राज्य स्तर के कार्यालयों में मिठाई खिलाकर जश्न मनाते रहे। पिछली बार भाजपा को 11 में से नौ सीटें मिली थीं। जबकि कांग्रेस के खाते में दो सीटें गईं थी। इस बार भाजपा ने अपने प्रदर्शन को और बेहतर किया है।

प्रदेश के सबसे हाई प्रोफाइल सीट राजनांदगांव में कांग्रेस के प्रत्याशी व पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को भाजपा प्रत्याशी संतोष पांडेय ने हरा दिया। संतोष लगातार दूसरी बार सांसद निर्वाचित हुए हैं।

महासमुंद में भाजपा की महिला प्रत्याशी रूपकुमारी चौधरी ने कांग्रेस के कद्दावर नेता व पूर्व गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू को हरा दिया है। रायपुर लोकसभा सीट से आठ बार के विधायक रहे वर्तमान शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कांग्रेस के विकास उपाध्याय को पराजित किया। दुर्ग लोकसभा क्षेत्र में भाजपा के प्रत्याशी विजय बघेल कांग्रेस के राजेंद्र साहू को हराकर दूसरी बार सांसद बने।

बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र में भाजपा के किसान नेता तोखन साहू ने कांग्रेस प्रत्याशी देवेंद्र सिंह यादव को हराया। रायगढ़ लोकसभा क्षेत्र में भाजपा के प्रत्याशी राधेश्याम राठिया ने कांग्रेस की प्रत्याशी डा. मेनका देवी सिंह को हराया।

सरगुजा लोकसभा क्षेत्र में कांग्रेस से भाजपा में आए चिंतामणि महराज ने कांग्रेस की शशि सिंह को पराजित किया। कांकेर में भाजपा प्रत्याशी भोजराज नाग ने कांग्रेस के बीरेश ठाकुर और जांजगीर-चांपा में भाजपा प्रत्याशी कमलेश जांगड़े ने कांग्रेस के प्रत्याशी व पूर्व मंत्री डा. शिव कुमार डहरिया को पराजित किया।

भाजपा को कोरबा में झटका, बस्तर में वापसी

प्रदेश की कोरबा लोकसभा सीट पर भाजपा को लगातार दूसरी बार हार मिली है। यहां कांग्रेस की प्रत्याशी ज्योत्सना महंत ने भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रत्याशी सरोज पांडेय को हरा दिया। ज्योत्सना प्रदेश के कांग्रेस नेता व नेता प्रतिपक्ष डा. चरणदास महंत की पत्नी हैं। वह दूसरी बार लोकसभा सदस्य निर्वाचित हुई हैं। वहीं बस्तर लोकसभा क्षेत्र में भाजपा ने अपनी खोई हुई सीट पर वापसी की है। पिछली बार इस सीट पर कांग्रेस के प्रत्याशी दीपक बैज जीते थे। इस बार यहां भाजपा के प्रत्याशी महेश कश्यप ने कांग्रेस के प्रत्याशी व पूर्व मंत्री कवासी लखमा को हरा दिया है।

पांच लोकसभा चुनाव में दो सीट से आगे नहीं बढ़ी कांग्रेस

राज्य गठन के बाद अब तक प्रदेश में हुए पांच लोकसभा चुनाव में कांग्रेस एक या दो सीट से आगे नहीं बढ़ पाई। वर्ष 2004, 2009, 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने 11 में से 10 सीट पर जीत हासिल की थी और कांग्रेस को एक सीट मिली थी। इसके पहले 2019 के चुनाव में भाजपा को नौ और कांग्रेस को दो सीट मिली थी। इस बार 2024 के लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस एक सीट से आगे नहीं बढ़ पाई।

दिग्गज जीते: बृजमोहन अग्रवाल, विजय बघेल, संतोष पांडेय, ज्योत्सना महंत, चिंतामणि महराज।

दिग्गज हारे: भूपेश बघेल, सरोज पांडेय, ताम्रध्वज साहू, डा. शिवकुमार डहरिया, कवासी लखमा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *