कांग्रेस कांकेर लोकसभा प्रत्याशी बीरेश ठाकुर 4 ईवीएम को खुलवाने पहुचे कोर्ट, मशीनों में गड़बड़ी की जताई आशंका 

Featured Latest खरा-खोटी छत्तीसगढ़
Spread the love

कांकेर : लोकसभा कांकेर के बालोद जिले की तीन और धमतरी जिले की एक ईवीएम को खुलवाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत पौने 2 लाख फीस भरी है। कोर्ट के आदेश के उपरांत आरओ 43 दिन के अंदर ईवीएम को खोलने की परमिशन देगा। कांग्रेस के प्रत्याशी बीरेश ठाकुर ने कहा कि मतगणना के दिन डाकमत पत्र की पुनर्गणना के लिए आवेदन किया, उसके बाद भी कोई सुनवाई नहीं हुई। ईवीएम खुलने के बाद सही तस्वीर सामने आ जाएगी।

कांकेर लोकसभा के कांग्रेस के प्रत्याशी बीरेश ठाकुर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि 1 जून को सुप्रीम कोर्ट का एक आदेश आया था कि आशंका होने पर परिणाम आने के 15 दिन के अंदर एक ईवीएम का 40 हजार रुपए और 18 प्रतिशत जीएसटी शुल्क भरकर ईवीएम खुलवा सकते है। इसी आदेश के तहत हमने चार ईवीएम को खुलवाने के लिए आवेदन किया है। निर्वाचन आयोग के द्वारा जो मशीनों के नंबर दिए गए थे, चाहे वीपी मशीन नंबर हो, चाहे वीसी नंबर हो और चाहे वीपी पेड नंबर हो, हमारे एजेंट के द्वारा 17 सी फार्म लगाया गया था, जो निर्वाचन आयोग के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार मशीनों के क्रमांक में परिवर्तन है। इसकी पहले ही आशंका जताई थी कि मतदान के दौरान ईवीएम को बदली गई है। पूर्व में  भी इसकी शिकायत आरओ से की थी, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। हमने लोकसभा क्षेत्र की चार मशीनें खुलनवाने के आवेदन दिया है। लोकसभा क्षेत्र के चार बूथों की मशीनें खुलवाने आवेदन दिया है। विश्वास है कि इन चार मशीन में हमें कहीं न कहीं उनकी गड़बड़ियां मिलेंगी, जिससे स्पष्ट हो जाएगा कि हमारे साथ और हमारे मतदाताओं के साथ जो खिलवाड़ हुआ है, वो हमको पता चल जाएगा।

गड़बड़ी से बदला परिणाम

ठाकुर ने कहा कि ईवीएम में हुई गड़बड़ी के कारण परिणाम में परिवर्तन हुआ है। मशीन खुलने के बाद परिणाम सबके सामने होगा। ऐसा इतिहास में पहली बार हुआ कि आरओ को एक दिन में हटाया गया हो। आरओ के मतदान के समय मोबाइल की जाँच कराई जाए तो खुलासा हो जाएगा कि किसके निर्देश पर यह गड़बड़ी की गई है।

16 वें राउंड के बाद देर से आने लगे परिणाम 

काग्रेस प्रत्याशी बीरेश ठाकुर ने कहा कि मतगणना के बाद प्रत्येक राउंड को तुरंत बताया जा रहा था, लेकिन जब तीन बजा, उसके बाद नेट टू नेट का मामला चला था। 16 वें रॉउड के बाद परिणाम देरी से आने लगे। राउंड घोषणा में जो विलंब किया गया है, उससे स्पष्ट है कि हराने का प्रयास किया गया। कांकेर लोकसभा की जनता और लोकसभा के कांग्रेस कार्यकर्ताओं, वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं को आशा ही नहीं, पूरा विश्वास था कि इस समय हम कांकर लोकसभा को जीतेंगे और निश्चित ही उस हिसाब से सभी लोग मेहनत किए थे।

इन जगहों की ईवीएम खुलवाने के लिए आवेदन 

कांकेर लोकसभा से हारे कांग्रेस प्रत्याशी बीरेश ठाकुर ने बताया कि उन्होंने चार बूथों बालोद जिला के बालोद विधानसभा की पहली मशीन रेवटी नवागांव मतदान केंद्र, दूसरी साल्हेटोला मतदान केंद्र, तीसरी गुंडरदेही विधानसभा के रनविरई मतदान केद्र और चौथी मशीन सिहावा विधानसभा के दरगाहन मतदान केंद्र की ईवीएम को खुलवाने के लिए आरओ और संबंधित जिले के कलेक्टर एआरओ के पास आवेदन किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *