बलौदाबाजार हिंसा में साय सरकार के आरोपों पर भड़के पूर्व मंत्री गुरू रुद्र कुमार, गिरफ्तारी देने एसपी दफ्तर पहुंचे

Featured Latest आसपास छत्तीसगढ़ प्रदेश
Spread the love

रायपुर : छत्‍तीसगढ़ के बलौदाबाजार हिंसा मामले में साय सरकार के आरोपों के बाद पूर्व मंत्री गुरू रुद्र कुमार अपनी गिरफ्तारी देने के लिए एसपी दफ्तर पहुंचे। गुरू रुद्र कुमार ने खुद पर लगे षड्यंत्र के आरोपों नाराजगी जताई। कांग्रेस नेता ने कहा, षड्यंत्र का आरोप लगाने वाले मंत्रियों के खिलाफ मानहानि का दावा करेंगे। बतादें कि रूद्र कुमार सतनामी समाज के गुरू हैं। छत्‍तीसगढ़ सरकार ने बलौदाबाजार हिंसा के पीछे कांग्रेस नेताओं का हाथ बताया है।

तीन मंत्रियों ने दिखाए फोटो, कहा हिंसा के पीछे कांग्रेसियों का हाथ

राज्य सरकार के तीन मंत्री दयालदास बघेल, टंकराम वर्मा और श्याम बिहारी जायसवाल ने पत्रकारवार्ता में पूर्व मंत्री गुरु रुद्र कुमार, भिलाई के विधायक देवेंद्र यादव और बिलाईगढ़ की विधायक कविता प्राण लहरे पर समाज के लोगों को भड़काने का आरोप लगाया गया है।

तीन मंत्रियों ने इनके विरोध-प्रदर्शन की तस्वीरें जारी करते हुए कहा कि मामले की न्यायिक जांच शुरू हो चुकी है। उन्होंने कहा कि लोगों को भड़काने के आरोप में कांग्रेस के नेताओं पर भी कार्रवाई की जाएगी। सतनामी समाज के मंच से कांग्रेस विधायक यादव सहित अन्य नेताओं ने भड़काऊ भाषण दिया।

कांग्रेस नेताओं ने 15 हजार प्रदर्शनकारियों के लिए भोजन की व्यवस्था की थी। मंत्री बघेल ने कहा कि सतनामी समाज के कार्यक्रम में कांग्रेस विधायक देवेंद्र यादव क्यों आए थे। कांग्रेस ने षड्यंत्र रचने का काम किया है।

विधायक लहरे ने आरोपों को किया खारिज

विधायक कविता प्राण लहरे ने मंत्रियों के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि वे लोगों से शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन करने की अपील करने के लिए गई थीं। समाज का मामला होने के कारण प्रदर्शन में शामिल हुई थीं। पूर्व मंत्री गुरु रुद्र कुमार ने बलौदाबाजार हिंसा के लिए भाजपा को दोषी बताया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *